मुख्य पृष्ठ
1 2 3

मार्केटिंग का नया मंच

 

ऑनलाइन मार्केटिंग की तेज़ी से बदलती दुनिया में राह बनाना छोटी और बड़ी, दोनों तरह की कंपनियों के लिए मुश्किल काम लग सकता है, लेकिन इस क्षेत्र में अब ज़्यादा से ज़्यादा प्रतिबद्ध लोग संगठनों को सफलता दिलाने में जुटे हैं।


इंटरनेट  सिर्फ फोटो शेयर करने और वीडियो देखने का अच्छा तरीका भर नहीं है-  यह एक ऐसा जीवंत माध्यम भी हैं जहां सभी आकार और प्रकृति की कंपनियां दुनियाभर में अपने ग्राहकों तक पहुंच सकती हैं। ऑनलाइन मार्केटिंग की तेज़ी से बदलती दुनिया में राह बनाना छोटी और बड़ी, दोनों तरह की कंपनियों के लिए मुश्किल काम लग सकता है, लेकिन इस क्षेत्र में अब ज़्यादा से ज़्यादा प्रतिबद्ध लोग संगठनों को सफलता दिलाने में जुटे हैं। ऑनलाइन मार्केटिंग प्रो़फेशनल किसी खास मार्केटिंग कंपनी के लिए काम कर सकते हैं या फिर किसी कंपनी में, वे किसी गैरलाभकारी संगठन में काम कर सकते हैं या फिर शैक्षिक संस्थानों में, या फिर राजनीतिक प्रचार अभियानों के लिए और ऐसे किसी भी संगठन के लिए जिसे अपने उत्पादों और सेवाओं के लिए ग्राहकों को आकर्षित करने की ज़रूरत होती है।

हत्वपूर्ण है ऑनलाइन मार्केटिंग
डिजिटल मार्केटिंग फर्म इंडियन ऑनलाइन मार्केटिंग के संस्थापक और सीईओ नवीन पाल कहते हैं, “यह ऐसी चीज़ है जो सभी तरह के कारोबार को अपनानी चाहिए।”  उनके अनुसार ऑनलाइन मार्केटिंग से कंपनियां कम खर्च करके लगातार ग्राहकों की नज़रों में खुद को मौजूद रख सकती हैं। उन्हें द़फ्तर बंद होने पर या छुट्टी के दिन अपना काम बंद नहीं करना पड़ता। नई सामग्री को जल्दी से डाला जा सकता है और संशोधित किया जा सकता है। ग्राहक किसी कारोबार के बारे में आसानी से जान सकते हैं और उत्पादों पर निगाह डाल सकते हैं। सही ऑनलाइन मार्केटिंग रणनीति के बूते बिक्री के आंकड़े बहुत तेज़ी से बढ़ सकते हैं।

पाल कहते हैं, “यदि आप ऑनलाइन मार्केटिंग नहीं कर रहे हैं और आपके प्रतिस्पर्धी ऐसा कर रहे हैं तो वे आपके मुकाबले लाभ की स्थिति में हैं। वे जल्दी ही ज़्यादा लोगों तक पहुंच सकते हैं और ज़्यादा ग्राहक बना पाएंगे। इसलिए अपने कारोबार की ऑनलाइन मार्केटिंग तुरंत शुरु करें।”

ऑनलाइन मार्केटिंग मैनेजरों को सफल होने के लिए कई तरह की जिम्मेदारियों को साथ-साथ निभाना पड़ता है। इनमें अन्य लक्ष्यों के अलावा ब्रांड जागरूकता और ऑनलाइन ट्रैफिक के लिए ऑनलाइन रणनीति तैयार करना और उस पर अमल शामिल है। पाल के अनुसार, “उन्हें साइट पर आने वाले ग्राहकों के व्यवहार, पेज़ का प्रदर्शन, क्लिक नेवीगेशन और शॉपिंग पैटर्न का भी अध्ययन और विश्लेषण करना चाहिए जिससे कि वर्चुअल बाज़ार में बिक्री को बढ़ावा दिया जा सके।” और ऐसा करते वक्त ऑनलाइन मार्केटिंग में लगे लोगों को कंपनी के सभी विभागों के संपर्क में रहना पड़ता है, मौजूदा और  नए उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देना होता है- और ये सब काम करते वक्त बजट का भी ध्यान रखना होता है।

पिछले कुछ सालों में पाल ने पाया कि ऑनलाइन मार्केटिंग में काफी बढ़ोतरी हुई है। “यदि हम उदाहरण के लिए भारत को देखें तो इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या में बड़ी तेज़ी से इजाफा हो रहा है। इसे बढ़ोतरी से कारोबारियों को अपने उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने के बड़े अवसर मिल रहे हैं। आने वाले कुछ सालों में लाखों और लोग इंटरनेट से जुड़ेंगे और यह और बड़ी ताकत बन जाएगी क्योंकि ज़्यादा लोग अपनी ज़रूरतों के लिए इंटरनेट का सहारा लेंगे।”

कॅरियर का चुनाव
पाल के अनुसार ऑनलाइन मार्केटिंग में सफलता के लिए कार्य अनुभव आवश्यक नहीं है लेकिन प्रशिक्षण और शिक्षा सफलता के लिए अहम हैं। प्रौद्योगिकी और कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिग्री या एमबीए आवश्यक है।  वेबसाइट डिज़ाइन, ग्राफिक डिज़ाइन और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन का ज्ञान भी बेहतर रहता है। पाल के अनुसार, “तकनीक बदलती रहती है और नए ऑनलाइन उपकरण आते रहते हैं। हमें अप-टू-डेट रहना होता है और लगातार सीखने की क्षमता होनी चाहिए।”  इस सिद्धांत पर अमल के लिए गूगल और याहू जैसे सर्च इंजन और फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया अगुआओं के न्यूज़लेटर को पढ़ना होता है।

अपनी कंपनी के संस्थापक और सीईओ होने के नाते पाल सप्ताह में छह दिन देर-देर तक काम करते हैं। वह कहते हैं, “काम के दबाव के बावजूद मुझे ऑनलाइन मार्केटिंग अच्छी लगती है।” अन्य संगठनों में काम करने के इच्छुक ऑनलाइन मार्केटिंग मैनेजरों को अच्छा-खासा समय अपने काम के लिए देने को तैयार रहना चाहिए, हालांकि उनकी दिनचर्या पाल जितनी व्यस्त नहीं होगी। वेतन वेबसाइट indeed.com के अनुसार ऑनलाइन मार्केटिंग  मैनेजर का औसत वेतन अमेरिका में 63,000 डॉलर सालाना है, जबकि payscale.com के अनुसार यह 37,000 से लेकर 90,000 डॉलर के बीच है।

चुनौतियों और वेतन से अलग पाल कहते हैं कि स्काइप जैसे उपकरणों के बूते वे अपने ग्राहकों के साथ अमेरिका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया और कहीं और से भी काम कर सकते हैं और साथ ही मेरठ, उत्तरप्रदेश में अपने मुख्यालय से भी जुड़े रहते हैं। वह कहते हैं, “ऑनलाइन मार्केटिंग की यही खूबसूरती है। हम दुनिया में कहीं से भी अपने उत्पादों को बढ़ावा दे सकते हैं और उनकी मार्केटिंग कर सकते हैं।”

माइकल गलांट न्यू यॉर्क सिटी में रहते हैं। वह गलांट म्यूज़िक के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी हैं।


टिप्पणियां देखे
rakesh khudia का छायाचित्र

मैं घरेलू हस्तनिर्मित वस्तुएं बनाने का कारीगर हूं। पहले मुझे ई-शॉप के बारे में जानकारी नहीं थी। आपका लेख मेरे लिये प्रेरणादायी रहा। अब मैं ई-शॉप पर अपना कारोबार करना चाहता हूं। मेरा मार्गदर्शन करें।