मुख्य पृष्ठ

और लेख

  • फुलब्राइट-नेहरू मास्टर्स फेलो अभिलाषा पुरवार वायु प्रदूषण की चुनौती से जूझने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और आंकड़ों की मदद ले रही हैं।  

  • श्रेया दवे अपनी नई तकनीक के ज़रिये खाद्य एवं पेय पदार्थ उद्योग में रसायनों को अलग करने पर खर्च ऊर्जा में 90 प्रतिशत की कमी ला सकती हैं।  

  • फुलब्राइट-नेहरू फेलो जोशुआ आप्टे का रिसर्च ग्रुप शहरी इलाकों के वायु प्रदूषकों, आबादी से उनके संसर्ग और मानव स्वास्थ्य के बीच के संबंधों को समझने के संयुक्त प्रयासों में भागीदारी कर रहा है।  

  • आदर्श शुक्ला अपनी फोटोलाइट कोटिंग का इस्तेमाल कर वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने में मदद कर रहे हैं।  

  • ब्राउन यूनिवर्सिटी के इंजीनियरों द्वारा डिज़ाइन की गई वाटर विंग टेक्नोलॉजी नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में एक नई शुरुआत है।  

  • गन्ने की किस्मों को आनुवंशिक रूप से इस तरह से विकसित किया जा सकता है कि उनके पत्तों और तनों में तेल की मात्रा को बढ़ाया जा सके।  

  • ग्रैविकी लैब्स प्रदूषण फैलाने वाले खतरनाक कणों को कलाकारों के काम आने वाली चीज़ों में तब्दील कर देती है।  

  • न्यू जर्सी की स्टेट यूनिवर्सिटी रटगर्स में फुलब्राइट स्कॉलर शीतल पाउलू गोदाद का प्रोजेक्ट पूर्वी हिंद महासागर के इतिहास और उसके भू-रासायनिक अध्ययन पर केंद्रित है।

  • डिंपल वर्मा की कंपनी विज़रोबो रोबोटिक्स में नए और रचनात्मक आइडिया के ज़रिये विज्ञान-तकनीकी शिक्षा मुहैया कराने का काम करती है।  

  • फुलब्राइट-नेहरू फेलो उमा रामाकृष्णन आनुवंशिकी का इस्तेमाल कर भारत में बाघों के संरक्षणके काम में जुटी हैं।  

  • सिल्की अग्रवाल की जियोकार्ट जीपीआर तकनीक से अनूठी सेवाएं दे रही है।  

  • नेक्सस से प्रशिक्षित श्रावणी लडकट भारत में खाद्य पदार्थों की बर्बादी को कम करने की तकनीक पर काम कर रही हैं।

  • मॉरफेडो की सह-संस्थापक मान्या झा विज्ञान-तकनीक क्षेत्र में एक उद्यमी के रूप में कॅरियर शुरू करने के अपने अनुभव के बारे में बता रही हैं।

  • साकेत नवलखा वैज्ञानिकों की उस टीम में शामिल थे जिसने यह अध्ययन किया कि फलों पर बैठने वाली मक्खियां भी सर्च इंजन की तरह ही अपना खोजी अभियान संचालित करती हैं।  

पृष्ठ

वीडियो स्पैन वीडियो गैलरी